2 अक्टूबर 2014 के दिन भारत के मौजूदा प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने स्वच्छ भारत अभियान की शुरुआत की थी। जिसकी जानकारी होना छात्रों के लिए बहुत ही जरूरी है, इसलिये हम कुछ निम्नलिखित निबंध प्रदान कर रहे है, जिसमें स्वच्छ भारत अभियान के बारे में विस्तार से बताया गया है।

स्वच्छ भारत अभियान निबंध को हमनें अलग अलग शब्द सीमा में बाँटा है, ताकि अलग अलग कक्षा के विद्यार्थी खुद की जरुरत के अनुसार लिख पाए।

Essay on Swachh Bharat Abhiyan in Hindi Language in 100, 200, 300, 400 Words.

स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध 100 शब्द (Swachh Bharat Abhiyan Par Nibandh 100 Words)

देश के राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 145वीं जन्म जयंती यानि कि 2 अक्टूबर 2014 के दिन राजपथ पर जनसमूह को संबोधित करते हुए देश के माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने यह महत्वाकांक्षी योजना की घोषणा की और लोगो को यह योजना को सफल बनाने के लिए इसमें भागीदारी लेने के लिए आह्वान किया।

यह योजना का मुख्य उद्देश्य भारत में बढ़ रही गंदगी को हटाना और एक स्वच्छ भारत का निर्माण करना है। देश के प्रधानमंत्री के आह्वान की वजह से देश के प्रसिद्ध कलाकार और नेता भी यह अभियान में जुड़े और उसकी वजह से लोगों में उत्साह देखको मिलता है।

हम यह आशा करते है कि यह योजना सफल हो और हमारा भारत साफ और सुंदर बने।

स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध 200 शब्द (Swachh Bharat Abhiyan Par Nibandh 200 Words)

भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने 2 अक्टूबर 2014 के दिन यानि 145वीं जन्म जयंती के दिन राजपथ पर देश के लोगो को संबोधित करते हुए, स्वच्छ भारत अभियान की घोषणा की थी। स्वच्छ भारत अभियान को स्वच्छ भारत मिशन और स्वच्छता अभियान के नाम से भी जाना जाता है।

यह योजना की अवधि 5 साल की रखी गई है और इन 5 साल की अवधि में भारत को स्वच्छ और सुंदर बनाने के उद्देश्य से यह योजना को बनाया गया है। यह योजना की घोषणा करते हुए कहा कि क्या सफाई करना क्या कर्मचारियों की ज़िम्मेदारी है? क्या यह हम सभी की ज़िम्मेदारी नहीं है? हमें यह नज़रिया बदलना होगा मैं जानता हूं कि इसे एक अभियान बनाने से कुछ नहीं होगा। पुरानी आदतों को बदलने में समय लगता है पर अभी भी हमारे पास 2019 तक का समय है।

यह योजना की सफलता से भारत में गंदकी की वजह से होने वाले विविध रोगों में कमी देखने मिलेंगी और भारत की विदेश के लोगो के मन जो गंदकी वाली छवि है, वह दूर हो जाएंगी। जिसकी वजह से देश में आने वाले विदेशी निवेश में और विदेशी पर्यटकों की संख्या में भी बढ़ोतरी होगी, जिसका देश के अर्थतंत्र पर बहुत ही सकारात्मक असर होगा।

स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध 300 शब्द (Swachh Bharat Abhiyan Par Nibandh 300 Words)

हम भारत देश के निवासी वह गौरवशाली और समर्थ भारतीय संस्कृति के अनुयायी है, जिसका उद्देश्य हमेशा से ‘पवित्रता’ और ‘शुद्धि’ रहा है। उस बात को भूलते हुए हम भारतीय लोग ऐसे समय है, जहा पे भारत दुनिया के सबसे गंदे देशो में अपनी जगह बना चुका है, जिसका खामियाजा हम लोग कई तरह से चुका रहे है, जैसे की गंदगी की वजह से बीमारियों का बढ़ना, विदेशी निवेश तथा विदेशी पर्यटकों का कम होना।

उसी सब बातों को देख ते हुए भारत के प्रधनमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने 2 अक्टूबर 2014 यानी की देश के राष्ट्रपिता महात्मा गांधीजी की जन्म जयंती के दिन राजपथ पर लोगो को संबोधित करते हुए स्वच्छ भारत अभियान की घोषणा की ताकि भारत में बढ़ रही गंदगी को कम किया जाए।

यह योजना की अवधि 5 साल यानी कि 2019 तक कि है और यह अभियान को सफल बनाने के लिए सभी भारतीयों को अपना सहियोग देना होगा। यह अभियान में ज्यादा से ज्यादा लोग जुड़े उस लिए भारत सरकार ने विविध क्षेत्रों से 9 हस्तियो को चुना है, जिसमें अनिल अंबानी, सचिन तेंदुलकर, सलमान खान, प्रियंका चोपड़ा, बाबा रामदेव, कमल हसन, मृदुला सिंहा और शाजिया इल्मी शामिल है। यह हस्तियो का मुख्य कार्य लोको को स्वच्छता अभियान में जुड़ाने के लिए उत्साहित करना है।

भारत सरकार यह अभियान को लोगो तक पहोचने के लिए सारे प्रयास कर रही है, ताकि यह अभियान सफल हो पाए। यहाँ हम लोगो को समझने ने वाली बात यह है कि सिर्फ अकेली सरकार या फिर दो-तीन लोगों के प्रयास करने से यह अभियान सफल नहीं होने वाला। यह अभियान को सफल बनाने के लिए हर भारतीय को खुद के घर से सफाई की शरुआत करने पड़ेगी और उससे बढ़के खुद के आसपास के जगहों को साफ कैसे रखे वह सीखना पड़ेंगा, तब जाके हम एक स्वच्छ भारत को बनाने में सफल हो पाएंगे।

स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध 400 शब्द (Swachh Bharat Abhiyan Par Nibandh 400 Words)

हमारी राजनीतिक स्वतंत्रता से जरूरी स्वच्छता है

 

  • महात्मा गांधी

 

हमारे राष्ट्रपिता महात्मा गांधीजी का सपना था कि भारत आज़ाद हो पर उसके साथ साथ स्वच्छ और सुंदर भी हो। उनके यह विचारों को भूलते हुए, हमने भारत में इतनी गंदकी कर रखी है कि एक रिपोर्ट के अनुसार भारत दुनिया में गंदकी के मामले में दूसरे स्थान पर आता है।

भारत में बढ़ रही गंदकी की वजह से विदेशी पर्यटकों में और विदेशी निवेश में कमी देखने मिल रही थी, जोकि देश की अर्थव्यवस्था के लिए बहुत ही बड़ा ख़तरा है।

यह बात को ध्यान में रखते हुए, भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने 2 अक्टूबर 2014 यानि कि महात्मा गांधीजी की 145कीं जन्म जयंती के दिन लोगो को संबोधित करते हुए स्वच्छ भारत अभियान की घोषणा की है, जिसको स्वच्छ भारत मिशन और स्वच्छता अभियान के नाम से भी जाना जाता है और यह अभियान की अवधि 5 साल यानी कि 2019 तक कि रखी गई है।

यह योजना का मुख्य उद्देश्य भारत को स्वस्थ और साफ-सुथरा बनाना है, क्योंकि गाँव और शहरों में बढ़ रही गंदकी की वजह से आर्थिक नुकसान के साथ साथ लोगो के अनेक प्रकार को बीमारियाँ जन्म लेती है और उसकी वजह से लोगो के स्वस्थ पर बुरा असर देखने को मिल रहा है।

यह अभियान में ज्यादा से ज्यादा लोग जुड़े उसके लिए भारत सरकार ने विविध क्षेत्रों से 9 हस्तियो को चुना है, जिसमें अनिल अंबानी, सचिन तेंदुलकर, सलमान खान, प्रियंका चोपड़ा, बाबा रामदेव, कमल हसन, मृदुला सिंहा और शाजिया इल्मी शामिल है। इन हस्तियों का काम विविध प्लेटफ़ॉर्म पर स्वच्छ भारत अभियान को बढ़ावा देना और लोगो को अभियान में जुड़ने के लिए उत्साहित करना है।

भारत के तत्कालीन संसाधन मंत्री श्री स्मृति ईरानी ने स्वच्छ भारत अभियान को आगे बढ़ते हुए स्वच्छ भारत स्वच्छ विद्यालय अभियान का आरंभ किया था, जिसके अंतर्गत भारत के विविध स्कूलों को स्वच्छ और सुंदर बनाने का लक्ष्य रखा गया था। यह अभियान में स्कूलों को साफ और सुथरा बनाने के लिए स्कूल के विद्यार्थियों और शिक्षकों को जुड़ने के लिए आह्वान किया गया था।

भारत सरकार ने स्वच्छ भारत अभियान को सफल बनाने के लिए काफी सारा पैसा भी इस्तेमाल किया है और वो पैसा अच्छी तरह से इस्तेमाल हो उसका ध्यान भी रखा जा रहा है। भारत सरकार की यह मुहिम सिर्फ किसी हस्तियों के जुड़ने से या पैसा खर्च करने से सफल होने वाली नही है। हमारे देश को स्वच्छ बनाने के लिए हम सब को इसमें जुड़ना पड़ेगा और सफाई की शुरूआत हमारे खुद के घर और हमारे आसपास की जगहों से करनी पड़ेगी।