सुख और दुःख दोनों सिक्के की दोनों और कि तरह होते है, उसका मतलब यह है कि हर किसी को जिंदगी में कभी ना कभी दुःख का सामना करना ही पड़ता है। उसका मतलब यह नहीं है कि हमें दुःख से हार कर उसका सामना करना छोड़ देना चाहिए।

हमें यह सोचकर ज़्यादा दुःखी नहीं होना चाहिए की ऐसा सिर्फ मेरे साथ ही क्यों होता है, ऐसा करना से हम ज्यादा दुःखी होते है।

दोस्तों, अगर आपको कोई ऐसी चीज परेशान कर रही है, तो आपको जरूर किसी से बात करनी चाहिए ताकि आपके दिल का बोझ हल्का हो। उसी के चलते हम आपके लिए सैड शायरी(Sad Shayari) लेकर आये है, ताकि आप आपके दुःख को दूसरों तक पहोंचा पाए। ये सभी सैड शायरी इन हिंदी (Sad Shayari In Hindi) को खास तौर पर चुना ताकि आप आपके दुःख को लोगो को अच्छी तरह से समझा पाए।

(1)

बहोत कुछ कहना था तुझसे,
लेकिन जब तू हाल ना समझ सका 
तो बातें क्या समझेगा !!

Sad shayari

(2)

थोड़ी मोहब्बत तो उसे भी हुई होगी मुझसे,
इतना वक्त सिर्फ दिल तोड़ने के लिये कौन बर्बाद करता है !!

(3)

उसे फुरसत ही कहाँ जो वक्त निकाले,
ऐसे ही तो होते है आजकल चाहने वाले !!

(4)

वो जो कहते थे कि वक्त ही वक्त है तुम्हारे लिये,
आज कहते है तुम्हारे सिवा और भी काम होते है !!

(5)

वो दौर भी आया जिंदगी में,
जब मुझे अपनी पसंद से ही नफ़र हो गई !!

Sad Shayari In Hindi

(6)

खुद को माफ़ नहीं कर पाओगे,
जिस दिन मेरे इश्क को समझ जाओगे !

(7)

शिकायत तो खुद से है,
तुमसे तो आज भी मोहब्बत है !!

(8)

उस वक्त जान निकल जाती है,
जब प्यार अपना हो और ज़िकर 
दूसरों का कर रहा हो !!

(9)

इश्क में हम कुछ ऐसी नादानी कर बैठे,
ज़माने की खातिर अपने इश्क की कुरबानी कर बैठे !!

(10)

प्यार कितना भी करके देख लो,
एक दिन ठुकरा जरुर देता है !!

Sad shayari

(11)

मेरे ना हो सको तो कुछ ऐसा कर दो,
मैं जैसा था मुझे फिर वैसा कर दो !!

(12)

वो बिलकुल ठीक है अपनी जगह,
बस हम ही जरुरत से ज्यादा उम्मीद कर बैठे थे उनसे !!

(13)

वाकिफ हूँ मैं तेरी फितरत से,
नफरत हो गई है अब मुझे मोहब्बत से !!

(14)

कोई किसीका नहीं साहब,
सब मतलब के साथी है !!

(15)

दुनिया को हकीकत मेरी पता कुछ भी नहीं है,
इलज़ाम हजारों है और खता कुछ भी नहीं है !!

Sad Shayari In Hindi

(16)

ये अलग बात है कि सुनी तेरी गई,
वरना खुदा तो मेरा भी था !!

(17)

बुरा तो हमें हर कोई बताता है,
तू बता दोस्त तेरे सुनने में क्या आया है !!

(18)

परखा बहुत गया है मुझे,
लेकिन समझा नहीं गया !!

(19)

अच्छी लगने लगी है ये खामोशियाँ भी,
अब हर किसीको जवाब देने का 
सिलसिला ख़तम हो गया है !!

(20)

साथ देने वाले लोग,
हालात नहीं देखा करते !!

Sad Shayari

(21)

छोड़ दिया उन लोगों से मिलना,
जो सोचते थे कि मैं सिर्फ मतलब से मिलता हूँ !!

(22)

जो कुछ भी था सब कुछ खो चूका हूँ मैं,
करके सबका भला अब बुरा बन चूका हूँ मैं !!

(23)

ये जो मुस्कान है चेहरे पर मेरे,
ये बस हुनर है मेरा हकीकत नहीं !!

(24)

जब गिला अपनों से ही हो तो खामोशी ही भली,
अब हर बात पर जंग हो ये ज़रूरी तो नहीं !!

(25)

कुछ ज़ख्मों का क़र्ज़,
लफ़्ज़ों से अदा नहीं होते !!

Sad Shayari In Hindi

(26)

ज़हर दे दो,
लेकिन किसीको 
झूठी उम्मीद मत दो !!

(27)

बात करने से बात बढ़ जाती है,
इसलिये अब हम खामोश रहते है !!

(28)

ये जमाना है साहब,
जिसकी जितनी परवाह करोगे
वो उतना ही बेपरवाह होकर मिलेगा !!

(29)

कोई अपना नहीं होता अपना कहने से,
किसीको फर्क नहीं पड़ता किसीके रोने से !!

(30)

आसान नहीं था संभल जाना,
ठोकर अपनों ने जो दी थी !!

Sad Shayari

(31)

कड़वा तो लगेगा पर हकीकत है जनाब,
आज के दौर में लोग औकात देख कर ही ताल्लुक रखते है !!

(32)

दर्द कम नहीं हुआ मेरा,
बस सहने की आदत हो गई है !!

(33)

जिन्हें नींद नहीं आती उन्हें ही मालुम है,
सुबह होने में कितने ज़माने लगते है !!

(34)

कुछ वक्त जिम्मेदारियों में क्या उलझ कर रह गये,
ख्वाब जो देखे थे वो सारे टूट से गये !!

(35)

साजिशों के हम शिकार हो गये,
जितना दिल साफ़ रखा हमने 
उतने ही गुनहगार हो गये !!

Sad Shayari In Hindi

(36)

मैं अपने दुश्मनों से बचता फिरता था,
मगर धोखेबाज तो मेरे अपने ही थे !!

(37)

तरस आता है मुझे अपनी मासूम सी पलकों पर,
जब भीग कर कहती है कि अब रोया नहीं जाता !!

(38)

छीन लेता है हर चीज मुझसे,ए खुदा ! 
क्या तू भी इतना गरीब है !!

(39)

बुरे हालात जब घेर लेते है,
तो अपने ही नजर फेर लेते है !!

(40)

रिश्तें टूटने लगे है और अपने रूठने लगे है,
जिंदगी अपनी शर्तों पर जब से हम जीने लगे है !!

Sad Shayari

(41)

महँगे जूते अक्सर वही खरीदता है,
जिसके नसीब में चलना बहुत कम आता है !!

(42)

ये दुनिया गोल है,
यहाँ सबका डबल रोल है !!

(43)

कमी बताने वाले हजार मिलें,
कोई एक ना मिला साथ देने वाला !!

(44)

सच्चे लोग दिल में उतनी जगह नहीं बना पाते है,
जितनी जगह मतलबी और चापलूस लोग बना लेते है !!

(45)

ए जिंदगी एसा भी नहीं कि तुझसे परेशान हूँ मैं,
बस कुछ अपनों के रवैयों से हैरान हूँ मैं !!

Sad Shayari In Hindi

(46)

कितना हँसते हो तुम,
कभी खुश भी रह लिया करो !!

(47)

दुनिया को झूठे लोग ही पसंद है,
थोड़ी सी सच्चाई कह देने से अपने ही
रूठ जाया करते है !!

(48)

क्या खूब होता अगर दुःख रेत के बने होते,
हथेली से गिरा देते पाँव से उड़ा देते !!

(49)

जरुरी नहीं है कि काम से ही इंसान थक जाये,
कुछ ख्यालों का बोझ भी इंसान को थका देता है !!

(50)

फिर कुछ ऐसे भी मुझे आजमाया गया,
पंख काट कर आसमान में उड़ाया गया !!

(51)

अब तुम भी कोई और रास्ता ढूँढ लो,
मैंने अपनी मंजिल बदल दी है !!

(52)

जज्बात लिखे तो मालुम हुआ,
पढ़े लिखे लोग भी पढ़ना नहीं जानते !!

(53)

सोचता हूँ अब मैं भी सीख लूँ यारों बेरुखी करना,
सब को मोहब्बत देते देते मैंने अपनी कदर खो दी है !!

(54)

रोने से दर्द कम तो नहीं होता,
मगर दिल को सुकून जरुर मिल जाता है !!

(55)

लोग भूल जाते है अपनों को भी,
अपनी औकात की तरह !!

Sad Shayari In Hindi

(56)

वो दर्द सहने में इतना खोया रहा,
भूल गया कि दर्द बाँट भी सकता था !!

(57)

मजाक ही मजाक में,
जिंदगी कब मजाक बन गयी
पता ही नहीं चला !!

(58)

उस मंज़र से अब गुज़र चूका हूँ मैं,
फिर मुड़ जाने का अब इरादा नहीं है मेरा !!

(59)

रुलाने वाले वही है,
जो कहते थे तुम हँसते हुए 
बहुत अच्छे लगते हो !!

(60)

काम निकलते ही,
अपनों को भी बदलते 
देखा है मैंने !!

(61)

कट तो रही है ये जिंदगी अकेले भी,
बस कभी कभी थम सी जाती है !!

(62)

कुछ वक्त गुजरने 
के बाद ये एहसास हुआ,
कि जो भी हुआ अच्छा हुआ !!

(63)

कुछ बातें बयाँ नहीं होती,
बस खामोशी बन कर खो जाती है !!

(64)

ख्वाब दुःख देने लगे थे,
मैंने सोना ही छोड़ दिया !!

(65)

उम्मीद अपनों से की थी,
काम सिर्फ बेगाने आये !!

Sad Shayari In Hindi

(66)

तकलीफें खुद ही कम हो गई,
जब अपनों से उम्मीदें ख़त्म हो गई !!

(67)

यहाँ तो खुद से ही मिले जमाना हो गया,
और लोग कहते है कि हमें भूल गये हो तुम !!

(68)

जब दर्द हद से ज्यादा हो जाता है,
तब इंसान खामोश हो जाता है !!

(69)

पत्थर नहीं हूँ मैं मुझमें भी नमी है,
दर्द बयाँ नहीं करता बस इतनी सी कमी है !!

(70)

कुछ तक़दीर में लिखा था,
कुछ मेरे अपनों ने बर्बाद किया !!

(71)

कौन पूछता है पिंजरे में बंद परिंदों को,
याद वही आते है जो उड़ जाते है !!

(72)

हमसे लहजा नहीं बदला जा रहा,
लोग चेहरे बदलते रहते है !!

(73)

बदल लेते है लोग खुद को इस कदर,
जैसे वो पहले कभी हमारे थे ही नहीं !!

(74)

जब से झूठ बोलना सीखा है,
तब से खुश रहने लगा हूँ !!

(75)

तुम भी कमाल करते हो,
उम्मीदें इंसान से लगा के 
शिकवा भगवान से करते हो !!

Sad Shayari In Hindi

(76)

प्यार मोहब्बत की बात छोडो,
हमें तो दोस्ती में भी धोखा मिला है !!

(77)

जिंदगी ने एक बात तो सीखा दी,
कि हम हर किसीके लिये हमेशा ख़ास नहीं होते !!

(78)

सदमों  से कोई मर नहीं जाता,
 तेरे सामने मिसाल है मेरी !!

(79)

झगडे तो यूँ ही बदनाम है,
असल दिवार तो ग़लतफ़हमियाँ बनाती है !!

(80)

जो इंसान चुप होता है,
सबसे ज्यादा शोर उसीके अंदर होता है !!

(81)

कुछ रिश्तों को मजबूत करते करते,
इंसान खुद ही कमजोर हो जाता है !!

(82)

बाहर रिश्तों का मेला है,
भीतर हर शख्स अकेला है !!

(83)

जहाँ अपने भी साथ छोड़ कर चले जाते है,
वहाँ मैंने खुद को अपने साथ देखा है !!

(84)

मैं पसंद तो बहुत हूँ सबको,
लेकिन जब उन्हें मेरी ज़रूरत होती है !!

(85)

वक्त से पूछ कर बताना जरा,
जख्म क्या वाकई भर जाते है !!

Sad Shayari In Hindi

(86)

कितना खौफ होता है शाम के अंधेरे में,
पूछ उन परिंदो से जिनके घर नहीं होते !!

(87)

वो लोग कभी नहीं रुठते,
जिनको मनाने वाला कोई नहीं होता !!

(88)

दो ही हमसफर मिले जिंदगी में,
एक सब्र और एक इम्तेहान !!

(89)

कहने वाले का क्या जाता है,
कमाल तो सहने वाले करते है !!

(90)

इंसानों की अब जरूरत नहीं,
यहाँ हर आदमी अपने मोबाइल से बातें करता है !!

(91)

कौन सीखा है सिर्फ बातों से,
सिखने के लिये सबको एक हादसा जरुरी है !!

(92)

जिनके पास दिखाने को कुछ नहीं होता,
वो इंसान अपनी औकात दिखा देता है !!

(93)

अपनों ने ही सिखाया है,
कि कोई अपना नहीं होता !!

(94)

ए जिंदगी एक बात तो बता,
तू सबसे ऐसे ही पेश आती है
या मुझसे ही दुश्मनी है !!

(95)

समंदर की तरह खामोशी से बहना सिखा दिया,
जिंदगी के सितम ने हर गम सहना सिखा दिया !!

Sad Shayari In Hindi

(96)

सिर्फ ख्वाहिशें ही नहीं,
बचपन भी छीन लेती है जिम्मेदारियाँ !!

(97)

बदलते तो इन्सान है,
वक्त तो एक बहाना है !!

(98)

शोहरत बेशक चुपचाप गुज़र जाये,
लेकिन कमबख्त बदनामी बड़ा शोर करती है !!

(99)

मुझे किसीसे कोई शिकायत नहीं है,
गलती मेरी थी जो मैंने भरोसा किया !!

(100)

ये बात समझने में उम्र बीत गयी,
बेगुनाह होना भी एक गुनाह है !!

(101)

भरोसा टूटने की आवाज नहीं होती,
लेकिन गूंज जिंदगी भर सुनाई देती है !!

(102)

बाहर से सुलझा हुआ दिखने के लिए,
अंदर बहुत उलझना पड़ता है !!

(103)

जख्म वही है जो छुपा लिए जाए,
क्योंकि दुनिया को बताते ही तमाशा बन जाता है !!

(104)

कभी कभी हजार माफियाँ भी,
कम पड़ जाती है एक गलती के लिए !!

(105)

पता नहीं सुधर गया या बिगड़ गया,
ये दिल अब किसीसे बहस नहीं करता !!

Sad Shayari In Hindi

(106)

रोने से अगर सुधर जाते हालात किसीके,
तो हमसे ज्यादा खुशनसीब कोई ना होता !!

(107)

जो गुजर गया नादानियों में,
वो वक्त बहुत कमाल का था !!

(108)

हम खुश रहने की कोशिश इसलिये भी करते है,
क्यूँकी हमें पता है कि हमें मनाने वाला कोई नहीं !!

(109)

वक्त आने पर लोग साथ कम,
और मशवरें ज्यादा देते है !!

(110)

हारना तब जरुरी हो जाता है,
जब लड़ाई अपनों से होती है !!

(111)

कोई तो ऐसा बहाना दे ए जिन्दगी,
कि जीने के लिये मजबूर हो जाऊँ मैं !!

(112)

कभी कभी लगता है के तनहा थे तो ठीक थे,
कम से कम किसीको खुश करने की जिम्मेदारी तो ना थी !!

(113)

जरा सा वक्त ख़राब क्या हुआ मेरा,
मेरे अपनों ने तो मुझे पहचानना ही छोड़ दिया !!

(114)

सबर करने वाले को,
सबसे ज्यादा आजमाया जाता है !!

(115)

बदला नहीं हूँ मैं,
बस शांत रहना अच्छा 
लगने लगा है मुझे !!

Sad Shayari In Hindi

(116)

कहाँ पहले सी अब यारियाँ है,
सभी के सर पे जिम्मेदारियाँ है !!

(117)

सुकून का एक लम्हा नसीब नहीं होता,
जिंदगी में इतना उलझ जायेंगे पता नहीं था !!

(118)

जब अपनें ही शामिल होते है दुश्मनों की चाल में,
तब शेर भी फस जाता है कुत्तों के जाल में !!

(119)

फिर किसीसे नहीं जुड़ते वो लोग,
जो अंदर से टूट जाते है !!

(120)

जिंदगी भर खुद को तोडा है मैंने,
सिर्फ दूसरों को जोड़ने के लिये !!